• Illegal slaughter of cattle
  • Latest modern sceintific research on A1 & A2 milk.
  • Workshops and Training Centre.
  • Check-up camps.
  • Experience of patients suffering from various chronic diseases.

Other utility products

क्र.
औषधी का नाम
गुणधर्म
1
'कामधेनु' गोमूत्र अर्क
पाण्डु, कमला, मुत्रविकर, त्वचारोग में तथा रोगप्रतिकारक व शक्तिवर्धक
2
'कामधेनु' हल्दी घनवटी
श्वास, कास, उदर रोग, उछ रक्तचाप, संधिशूल, प्रमेह में उपयुक्त
3
'कामधेनु' हरड़े चूर्ण
एसिडिटी, गैस ट्रबल, अपचन, पित्त, पेटदर्द आदिपर गुणकारी
4
'कामधेनु' मालिश तेल
जोड़ों के दर्द के लिए अत्यंत उपयोगी ( शरीर पर मालिश के लिए उपयुक्त)
5
'कामधेनु' क्ष्वित्रनाशक वटी
शारीर के सफ़ेद दाग (कोड ) शिरणी अदि रोगोंपर प्रभावी
6
'कामधेनु' क्ष्वित्रनाशक लेप
शारीर के सफ़ेद दाग (कोड ) आदिपर गुणकारी
7
'कामधेनु' गोमयादी लेप टिकिया
वेदकालीन पद्धतिनुसार बनाया गया - जीवनसत्व युक्त, कांतिवर्धक, उत्साहवर्धक, स्वास्थवर्धक
8
'कामधेनु' इसब टिकिया
सभी प्रकार के त्वचारोग विशेषकर इसब पर विश्वसनीय उपाय
9
'कामधेनु' गोमयभस्म दंतमंजन
दंतरोगनिवारणार्थ/ दंतमजनार्थ
10
'कामधेनु' मरहम
जख्म, फोड़े, फुंसी, खाज, गजकर्ण अदि के लिए
11
'कामधेनु' उबटन
वेदकालीन पद्धतिनुसार बनाया गया - जीवनसत्व युक्त, कांतिवर्धक, उत्साहवर्धक, स्वास्थवर्धक
12
'कामधेनु' क्षार चूर्ण
कफज़ रोग, श्वास कांस, उदर रोग, मलावरोध आदिपर गुणकारी
13
मेदोहर अर्क
मेद्व्रुधि, दुर्गन्ध युक्त पसीना आना, रक्तविकार, प्रमेह, शोध, अदि में उपयुक्त
14
बिभित्काव्लेह
श्वास कांस में उपयुक्त
15
पंचगव्य घृत
ज्वर, उन्माद, अपस्मार
16
अष्टमंगल घृत
यह घृत बालको को रोज चटाने से उनकी स्मरन्शक्ति बढती है और धारणाशक्ति तीव्र होती है
17
जात्यादि घृत
पुराना नाड़ी वर्ण (नासूर ), गंभीर वर्ण , आदिपर
18
चंदनादि यमक
अग्निदग्ध व्रण जल्दी भर जाते है । लगाने से तीव्र वेदना शमन होती है।
19
तक्रारिष्ट
पेट के विकारो पर अतिप्रभावशाली ,स्वादिष्ट,पाचक ,शरबत ,ग्रहणी अमिबिअसिस
20
कुष्माणडावलेह
रक्तपित्त, अम्लपित्त , दाह , तृषा , और पीलीया रोगोमे उपयुक्त
    Next